Flow Chart क्या है और इनके फायदे नुकसान क्या हैं?

कंप्यूटर पर किसी भी software को बनाने के लिए, आपको एक program बनाने की आवश्यकता है, आपको एक program बनाने की आवश्यकता है, आपको algorithm लिखने की ज़रूरत है, algorithm के बाद आपको Flow Chart बनाने की आवश्यकता है। प्रोग्राम का कोड लिखने के लिए Flow Chart बहुत मददगार है। जब हम किसी नई जगह पर जाते हैं, तो हम उस जगह से पूरी तरह से अनजान होते हैं। इसके लिए हमें एक मार्गदर्शक की जरूरत है जो हमें सबकुछ बताए और उसे घुमाए। लोग Google मानचित्र का उपयोग करने के लिए स्वचालित रूप से घूमते हैं। लेकिन हम यहां नक्शों की बात क्यों कर रहे हैं। तो मैं आपको बता दूं कि आज हम बात करने जा रहे हैं कि Flow Chart क्या है और इसे कैसे बनाएं? जब आप किसी प्रक्रिया के बारे में जानना चाहते हैं, तो Flow Chart एक ऐसा माध्यम है जो इसके बारे में पूरी जानकारी देता है।

flow chart in Hindi

एक program flowchart किसी प्रोग्राम में बग्स को अंजाम देने का सबसे आसान तरीका है, जिसे बाहर ले जाने से पहले, बहुत सारा समय, श्रम और पैसा बचाया जाता है। यह लेख कई पहलुओं से program फ़्लोचार्ट की परिभाषा को पेश करेगा और आशा है कि यह programmer को भविष्य के program flowchart ड्राइंग में मदद करेगा।

Flow Chart क्या है (What is a flow chart in Hindi)

Program Flow chart एक आरेख है जो computer में खिलाए गए कोडित निर्देशों के अनुक्रम का प्रतिनिधित्व करने के लिए मानक graphic प्रतीकों के एक सेट का उपयोग करता है, जिससे यह निर्दिष्ट तार्किक और अंकगणितीय संचालन करने में सक्षम होता है। यह कार्य कुशलता में सुधार करने के लिए एक महान उपकरण है। Program Flow chart, स्टार्ट, प्रोसेस, डिसीजन और एंड में चार बुनियादी प्रतीक हैं। प्रत्येक प्रतीक कार्यक्रम के लिए लिखे गए कोड के एक टुकड़े का प्रतिनिधित्व करता है।

  • ओवल या गोली का आकार
  • आयत आकृति
  • समानांतर चतुर्भुज आकार
  • हीरे की आकृति
  • तीर का आकार

Flow Chart के लाभ (Benefits of Flowchart in Hindi)

फ्लोचार्ट के लाभ इस प्रकार हैं:

  1. Program flowchart प्रोग्रामर को बाहर ले जाने से पहले प्रक्रिया में बग को खोजने में मदद कर सकता है।
  2. यह सिस्टम और विकास कार्यक्रमों का विश्लेषण करते समय एक खाका के रूप में काम करता है, जो कोडिंग को अधिक कुशल बनाता है।
  3. यह operating प्रोग्राम को बनाए रखने में प्रोग्रामर्स की दक्षता में सुधार करता है।
  4. Flow Chart की मदद से, सभी संबंधितों के लिए सिस्टम के तर्क को संप्रेषित करना बहुत आसान हो जाता है।

फ़्लोचार्ट के नुकसान (Disadvantages of Flowcharts in Hindi)

फ़्लोचार्ट से संबंधित कुछ नुकसान निम्नलिखित हैं:

  1. फ़्लोचार्ट का उपयोग करते समय परिवर्तन एक परेशानी बन सकता है।
  2. जब कोई प्रक्रिया अपेक्षाकृत जटिल होती है, तो यह एक प्रक्रिया फ्लोचार्ट को गन्दा और अनाड़ी बना सकती है।
  3. फ्लोचार्ट से संबंधित अंतिम बड़ी खामी यह है कि फ्लोचार्ट प्रतीकों को टाइप नहीं किया जा सकता है। आपको Word, Excel, या कुछ अन्य software का उपयोग करना होगा जो आपको आकार बनाने और उनमें शब्दों को प्लग करने की अनुमति देता है। इससे Flow Chart को फिर से बनाना मुश्किल हो जाता है, यह देखते हुए कि उन्हें आकार की आवश्यकता होती है।

0/Comments = 0 Text / Comments not = 0 Text

Thank you For Visiting

Previous Post Next Post