OSI मॉडल क्या है - What is OSI Model in Hindi

OSI Model in Hindi

आज के इस लेख हम जानेंगे कि OSI (Open System Interconnection) मॉडल क्या है (What is OSI Model in Hindi). OSI मॉडल के कितने layers होती है और कैसे काम करता है. इन सभी के बारे में हम बहुत हि अच्छे से जानने वाले है. OSI मॉडल (Open System Interconnection) एक वैचारिक ढांचा होता है जो छोटे-छोटे प्रोग्राम का एक समूह होता है. 

OSI मॉडल विभिन्न उत्पादों और सॉफ्टवेयर के बीच कम्प्यूटर हार्डवेयर तथा कम्प्यूटर प्रयोक्ता के साथ एक पुल (Bridge) का कार्य करता है। इसका उपयोग नेटवर्किंग सिस्टम के कार्यों से जुडी जानकारी को प्राप्त करने के लिए भी किया जा सकता है। 

Open System Interconnection Model कंप्यूटिंग कार्यों को नियमों और आवश्यकताओं के एक सार्वभौमिक सेट में करने के लिए किया जाता है। तो चलिए अब हम आपको OSI Model के बारे में बहुत ही आसान शब्दों में जानकारी देते है। 

अगर आपको Open System Interconnection मॉडल के बारे में विस्तार से जानकारी चाहते हैं तो इस इस ब्लॉग पोस्ट को अंतिम तक जरूर पढ़े।

OSI मॉडल क्या है? (What is OSI Model in Hindi)

ओपन सिस्टम इंटरकनेक्ट (OSI) मॉडल एक वैचारिक ढांचा होता है. OSI Model का फुल फॉर्म "Open System Interconnection Model" हैं। यह नेटवर्किंग या दूरसंचार प्रणालियों को सात Layers के रूप में वर्णित करता है. कंप्यूटर सिस्टम नेटवर्क पर संचार करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है और सभी का अपना कार्य होता है।

ओपन सिस्टम इंटरकनेक्शन (ओएसआई) मॉडल नेटवर्क संचार के लिए पहला मानक मॉडल था. इसको 1980 के दशक की शुरुआत में प्रमुख कंप्यूटर और दूरसंचार कंपनियों द्वारा इसको अपनाया गया था. ओएसआई मॉडल नेटवर्क में डेटा या सूचना को send और receive किया जाता है. इस नेटवर्क को सुचारू रूप से व्यवस्थित करने लिए कुछ लेयर बनाया गया है. OSI Model के 7 Layers के बारे में निचे विस्तार से बताया गया है.

OSI Model में कितने Layer होते हैं?

OSI Model में 7 Layer होते है -

  • Application Layer
  • Physical Layer
  • Transport Layer
  • Network Layer
  • Session Layer
  • Data link Layer
  • Presentation Layer

OSI मॉडल के लाभ (Advantage of OSI Model)

  1. OSI मॉडल को कंप्यूटर नेटवर्किंग में एक मानक मॉडल माना जाता है।
  2. यह एक नेटवर्क मॉडल को विकसित करने के लिए मार्गदर्शन उपकरण के रूप में कार्य करता है।
  3. Open System Interconnection उन्मुख सेवाओं और कनेक्शन रहित सेवाओं दोनों का समर्थन करता है।
  4. OSI मॉडल आर्किटेक्चर में परतों को सेवाओं, इंटरफेस और प्रोटोकॉल को स्पष्ट रूप से अलग करता है।
  5. नेटवर्क की प्रकृति के आधार पर प्रत्येक परत में Protocol को बहुत आसानी से बदला जा सकता है।

OSI Model in Hindi - FAQs

OSI मॉडल में कितने लेयर होते हैं?

OSI Model में कुल सात लेयर होते हैं। प्रत्येक परत का अपना अलग-अलग विशेष काम होता है।

ओ एस आई मॉडल क्या है?

OSI का अर्थ है Open System Interconnection होता है. यह एक कंप्यूटर में एक Application software की जानकारी देता है.

कौन सी परत उपयोगकर्ता को सेवाएं प्रदान करती है? (Which layer provides the services to User)

Application layer,Transport layer नेटवर्क में रखे दो डिवाइस आपस में डेटा भेजती है तथा उससे डेटा receive करती है। इससे उपयोगकर्ता को सेवाएं और सुविधा मिलता हैं।

भौतिक परत और नेटवर्क परत के डिजाइन मुद्दे क्या है?

भौतिक परत और नेटवर्क परत के डिजाइन मुद्दे नेटवर्क layer और तार्किक layer के बीच मैपिंग का है.

OSI संदर्भ मॉडल में भौतिक परत और नेटवर्क परत के बीच कौन सी परत स्थित है?

Open System Interconnection संदर्भ मॉडल में भौतिक परत और नेटवर्क परत के बीच डेटा-लिंक परत स्थित है.

Post a Comment

0 Comments