ऑपरेटिंग सिस्टम में Paging क्या है - What is Paging in Hindi

इस लेख में आप जानेगें कि ऑपरेटिंग सिस्टम में पेजिंग क्या है (What is Paging in Operating System in Hindi). कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम में पेजिंग अभिन्न ज्ञान कम्पोनेंट्स अंग होता है. आज के समय में कंप्यूटर को इस्तेमाल बहुत होने लगा है लेकिन लोग ये नही जानते के इसमें सेकेंडरी मेमोरी और मेन मेमोरी होता है. कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम में पेजिंग का इस्तेमाल सेकेंडरी मेमोरी और मेन मेमोरी के रूप में किया जाता है।

Paging in Hindi

हम ऑपरेटिंग सिस्टम में पेजिंग की सभी प्रकार के अवधारणा को कवर करेंगे. जिसमे आपको यह पता चलेगा कि पेजिंग को उपयोग क्या है, ऑपरेटिंग सिस्टम में पेजिंग कितने प्रकार है, ऑपरेटिंग सिस्टम में पेजिंग का इस्तेमाल कि विधि क्या है और पेजिंग कैसे काम करता है. तो चलिए ऑपरेटिंग सिस्टम में Paging क्या है? सबसे पहले जानते है.

ऑपरेटिंग सिस्टम में पेजिंग क्या है? (Paging in Hindi)

Paging एक Memory Management तकनीक होता है. यह ऑपरेटिंग सिस्टम को सेकेंडरी स्टोरेज से मेन मेमोरी में लाने में सक्षम बनाता है। पेजिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जो भौतिक पता स्थान को गैर-सन्निहित होने की अनुमति देता है।

पेजिंग Process ( प्रक्रिया ) का use डेटा तक तेजी से पहुंच के लिए किया जाता है। पेजिंग एक स्टोरेज स्ट्रक्चर है और इसको एक निश्चित आकार के ब्लॉक में विभाजित किया जाता है. जिसमे सेकेंडरी मेमोरी और मेन मेमोरी शामिल है.

Paging तकनीक में अलग अलग हिस्सों को अलग-अलग memory location में विभाजित किया जाता है। जिसमें Commemoration को निश्चित आकार के पृष्ठों के साथ पुरे प्रणाली की उपयोगिता बढ़ जाती है।

पेजिंग प्रक्रिया के भौतिक पता स्थान मुख्य मेमोरी में उपलब्ध होता है और यह स्टोरेज डिवाइस से मुख्य मेमोरी में निश्चित संख्या में पेज कॉपी करता है। 

भौतिक मेमोरी के फ्रेम में OS मुख्य मेमोरी स्मृति प्रबंधन योजना होता है। एक पेजिंग सिस्टम द्वारा डेटा को प्रोसेसर और एक्सेस किया जा सकता है।

पेजिंग के लाभ - What is the advantage of Paging?

ऑपरेटिंग सिस्टम में Paging तकनीक के फायदे नीचे दिया गया है-

  • पेजिंग का मुख्य लाभ मेमोरी मैनेजमेंट एल्गोरिथम का उपयोग करना आसान होता है। 
  • Paging प्रक्रिया कुछ हिस्सों को गैर-सन्निहित फैशन में संग्रहीत करने की अनुमति देता है।
  • Paging तकनीक की मदद से बाहरी विखंडन की समस्या हल अपने आप हो जाता है।
  • इस तकनीक के कारण सेगमेंटेशन विधि भी पेजिंग के समान ही काम करती है।
  • ऑपरेटिंग सिस्टम में मेमोरी प्रबंधन के लिए पेजिंग सबसे सरल मैनेजमेंट एल्गोरिदम में से एक है।

पेजिंग के नुकसान - What is the Disadvantages of Paging?

ऑपरेटिंग सिस्टम में Paging तकनीक के नुकसान इस प्रकार हैं:

  • पेजिंग विधि का उपयोग में, कभी-कभी पेज टेबल अधिक मेमोरी की खपत करता है।
  • समान आकार के पृष्टों और पृष्ट फ्रेमों के बीच आंतरिक विखंडन का कारण बनता है। 
  • इस प्रक्रिया में निर्देश प्राप्त करने में लगने वाले समय में वृद्धि हुई होता है।  
  • ऑपरेटिंग सिस्टम को पहले पृष्ट तालिका के कारण आंतरिक विखंडन होता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम में पेजिंग कितने प्रकार है? Types of paging in Hindi

  • Demand Paging
  • Loader Paging
  • Swap Prefetch Paging
  • Precleaning Paging
  • Thrashing Paging
  • Anticipatory Paging

Paging कैसे काम करता है? How does Paging works in Hindi

पेजिंग एक स्टोरेज मैकेनिज्म जो पेज नामक ब्लॉक से डेटा पढ़ता है. ऑपरेटिंग सिस्टम में, Paging का काम सेकेंडरी स्टोरेज से प्रक्रियाओं को पेज के रूप में मुख्य मेमोरी में पुनः प्राप्त करना होता है। 

मेमोरी के भौतिक भाग अलग-अलग आकार के प्रक्रिया को पृष्ठों के रूप में विभाजित करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम पेज को मुख्य मेमोरी फ्रेम के रूप में विभाजित किया जा सकता है।

Post a Comment

0 Comments